मध्यप्रदेश सीएम बनते ही जारी किये 4 सबसे बड़े आदेश, इन नियमों को तोड़ा तो खैर नहीं

मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ लेने के बाद फुल एक्शन में आ गए हैं। आते ही उन्होंने कुछ अहम् फैसलों पर आदेश जारी कर दिया है और साथ ही प्रदेश की जनता को यह विशवास दिलाया कि जो योजनायें पहले चल रही थी वो निरंतर चलती रहेगी उसमें किसी तरह की बाधा नहीं आएगी। 

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव सत्ता की कुर्सी संभालते ही एक के बाद एक बड़े फैसले ले रहे हैं  जिनके निर्देश का पालन शुरू हो गया है। राजधानी भोपाल में भी इसके लिए नियम जारी किए गए हैं। 

सीएम ने इन फैसलों पर दिया निर्देश 

पहला निर्देश – मध्यप्रदेश राज्य में मंदिर, मस्जिद सहित सभी धार्मिक स्थलों में सिर्फ एक लाउडस्पीकर लगाने की अनुमति होगी। जहां ज्यादा लगे हैं, उन्हें उतारना होगा। लाउडस्पीकर की आवाज भी कम की जाएगी। धार्मिक यात्राओं, जुलूस या अन्य कार्यक्रमों में भी ध्वनि की सीमा मानना अनिवार्य होगा।

दूसरा निर्देश – मुख्यमंत्री मोहन यादव ने जमीन की रजिस्ट्री के नियमों में फेर बदल करते हुए नामांतरण प्रक्रिया को भी हरी झंडी दे दी है जिसके बाद अब 1 जनवरी 2024 से नियमों में बदलाव हो जाएगा। इन नए नियम के अनुआर रजिस्ट्री कराने के बाद 15 दिन के अंदर ही अपने आप नामांतरण हो जाएगा। 

तीसरा निर्देश – अब सीएम बोरवेल हादसों को लेकर सख्त है. प्रदेश में लगातार हो रहे बोरवेल हादसों को देखते हुए सीएम मोहन ने आदेश जारी करके कहा है कि प्रदेश में अनुपयोगी और खुले नलकूप, बोरवेल, ट्यूबवेल जो भी है उसकी निगरानी प्रशासन को करना चाहिए। 

चौथा निर्देश – मुख्यमंत्री मोहन यादव जी एक बहुत अहम फैसला लेते हुए खुले में मांस, मछली, अंडा के बिक्री पर रोक लगाने का आदेश दिया है जिसके बाद से अब कोई भी दूकानदार खुलेआम मांस आदि नहीं बेच पायेगा। 

इन सभी निर्देशों की निगरानी उड़न दस्ते द्वारा की जाएगी जिसके लिए 7 दिनों का समय सीमा तय किया गया है जिसके बाद आठवे दिन कहीं नियम तोड़ा गया तो वहां कारवाई करके जुर्माना वसूला जाएगा और एफआईआर भी होगी।

इसे भी पढ़ें – MP News: लाभ ले रही लाड़ली बहना यदि अपात्र निकली तो होगी बड़ी कार्यवाई

Author

Leave a Comment