लाडली बहना योजना पर आया बड़ा अपडेट कहीं धीरे-धीरे बंद ना हो जाए पैसा मिलाना

लाडली बहना योजना जिसने मध्य प्रदेश की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाकर उन्हें अपनी एक अलग पहचान दिलाई, जिनके सहारे विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने प्रचंड विजय हासिल की। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस योजना को आरंभ करके राज्य की महिलाओं पर इसका जादू चलाया है जिसके अंतरगत महिलाओं को सहायता राशि प्रदान की जाती है। वर्तमान में लाडली बहना योजना की 1.32 करोड़ महिलाएं हैं। 

जैसा कि हम सब जानते हैं विधानसभा चुनाव का फैसला होने से पहले तक, शिवराज सिंह चौहान सहित संपूर्ण भाजपा सरकार का दावा था कि लाडली बहना योजना के तीसरे चरण को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद लॉन्च किया जाएगा जिसमें योजना के लाभ से वंचित रह गई महिलाओं को भी शामिल किया जाएगा  

लेकिन तीसरे चरण को लॉन्च करने की कोई खबर तो नहीं पर योजना से जुड़ी एक बुरी खबर सामने आई है दरअसल महिला एवं बाल विकास विभाग सागर द्वारा एक सूचना जारी हुई है जिसमें पात्र महिलाओं को बाहर करने के आदेश दिए गए हैं। 

महिला एवं बाल विकास विभाग ने जारी किया आदेश 

लाडली बहना योजना का लाभ ले रही महिला सशक्तिकरण एक बड़ी अधिसूचना महिला एवं बाल विकास विभाग ने जारी की जिसमें लिखा था की “यदि किसी  पर्यवेक्षक या किसी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता या सहायिका या स्वच्छ सहायता समूह के अध्यक्ष या सचिव या समूह का कोई अन्य सदस्य द्वारा लाड़ली बहना योजना की जो शासन द्वारा निर्धारित शर्तें थी उन शर्तों के विपरीत लाभ लिया गया है तो 15 दिनों के भीतर आप लाभ परित्याग कर दें, अन्यथा लाभ लेने के लिए आपके विरुद्ध कार्यवाही के लिए आप स्वयं जिम्मेदार हैं”। 

कांग्रेस कार्यकर्ता ने दी अधिसूचना की जानकारी 

सागर महिला एवं बाल विकास द्वारा जारी इस अधिसूचना की जानकारी देते हुए कांग्रेस जनरल सेक्रेटरी सैय्यद जाफर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा “लाड़ली बहना योजना में लाभ लेने वाली बहनों को अपात्र कर योजना से बाहर करने की सरकार की साजिश है”। इसके साथ ही उन्होंने सीएम डॉक्टर मोहन यादव से महिलाओं की उम्मीदें ना तोड़ने की मांग की। 

नए सीएम की छवि बिगाड़ने की कोशिश 

मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की छवि बिगाड़ने के लिए इस प्रकार के आदेश को जारी किया गया है जिससे ये साफ मालूम पढ़ता है कि सीएम मोहन यादव के खिलाफ साजिश रची जा रही है। लाडली बहना योजना के संबंध में बड़े बयान को करके यह दर्शया जा रहा है कि सीएम मोहन यादव एक जनता विभाजन चेहरा है। 

इसे भी पढ़ें –  गरीबों के लिए वरदान है ये योजनाएं, बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के लिए PM मोदी की सबसे बड़ी योजनाएं

कांग्रेस ने आदेश को रद्द करने और योजना को आगे बढ़ाने की मांग 

कांग्रेस जनरल सेक्रेटरी सैय्यद ने महिला एवं बाल विकास द्वारा जारी इस अधिसूचना को रद्द करने की मांग सीएम मोहन यादव से कि क्योंकि इस अधिसूचना को बिना सरकार की सहमति से जारी किया गया है जिसके लिए उन्होंने लिखा “सीएम मोहन यादव से महिलाओं की उम्मीद न तोडने की मांग”  इसके अतिरिक्त सैयद जाफर ने सीएम मोहन यादव से लाडली बहाना योजना से वंचित रह गई महिलाओं को जोड़ने की मांग भी की। 

Author

Leave a Comment