भारत सरकार दे रही 90% की सब्सिडी, इस आसान बिज़नेस को करके घर बैठे कमाएं 20 हजार हर महीने

बिहार सरकार युवाओं और किसानों के लिए सुनहरा अवसर लेकर आई है जिसमें किसानों की आय में तो बढ़ोतरी होगी ही साथ ही स्वरोज़गार तलाश रहे युवाओं को भी अच्छी खासी कमाई हो सकेगी। बता दें कि बिहार सरकार कृषि विभाग उद्यान निदेशालय ने मधुमक्खी पालन और शहद उत्पादन कार्यक्रम के माध्यम से 2200 मधुमक्खी बक्से लगाने प्रति योजना की स्वीकृति दी है। बिहार सरकार द्वारा इस योजना को मंजूरी देने का कारण मधुमक्खी पालकों को एक अच्छी आय प्रदान करना है। 

2200 मधुमक्खी बक्से लगाने के योजना पर मंजूरी देने से मधुमक्खी पालकों को बिहार सरकार 90% की सब्सिडी देगी बिहार सरकार कृषि विभाग उद्यान द्वारा अनुदान बक्सों की संख्या 50 तय की गई है। बिहार सरकार द्वारा योजना के तहत मधुमक्खी पालन के लिए सब्सिडी दर अलग-अलग तय है। सरकार एसटी-एससी वर्ग के लिए 90% की सब्सिडी तय कर चुकी है वहीं अन्य वर्ग के लिए 75% सब्सिडी निर्धारित है। 

किस वर्ग को कितनी मिलेगी सब्सिडी 

 मधुमक्खी पालकों को सरकार द्वारा विभिन्न जाति की मधुमक्खी पालकों को अलग-अलग सब्सिडी दी जाएगी। दरअसल बिहार सरकार द्वारा सामान्य जाति को ₹1000 बॉक्स लगेगा वही ST, SC जाति के लिए ₹400 प्रति बॉक्स लगेंगे जिस पर सामान्य जाति के मधुमक्खी पालकों को 75% सब्सिडी उपलब्ध कराई जाएगी वही ST, SC जाति के मधुमक्खी पालकों को सरकार ने 90 फिसदी तक सब्सिडी निर्धारित की है। 

मधुमक्खी पालकों के लिए निर्देश 

बिहार सरकार कृषि विभाग निदेशालय के अनुसार योजना का लाभ लेने के लिए सिर्फ वही मधुमक्खी पालक पत्र होंगे जिनके पास मधुमक्खी पालन की जानकारी होगी साथ ही उनके पास किसी भी सरकारी संस्थान से 3 दिन की ट्रेनिंग अनिवार्य होनी चाहिए जिससे उन्हें और बाकी लोगों को मधुमक्खी पालन का कार्य करने में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं हो। 

₹20000 तक की कमाई संभव 

मधुमक्खी पालन के माध्यम से किसान और युवा स्वरोज़गार करके आसानी से 20000 रुपये और उससे अधिक मुनाफ़ा कमा सकते हैं। वह किस प्रकार होगा हम आपको बताते हैं, यदि मार्केट रेट की बात की जाये तो इस समय शहद की कीमत ₹400 से ₹500 किलो के बीच है वही मधुमक्खी के प्रति बॉक्स में 40 किलो तक शहद का उत्पादन होता है जिस हिसाब से अगर अंदाज़ा लगाया जाए तो मधुमक्खी पलकों की आसान से 20000 रुपये तक की कमाई हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें – अब 1.41 लाख किसानों को मिल रही है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राशि

किस प्रकार रहेगी आवेदन प्रक्रिया  

बिहार सरकार द्वारा राज्य के उन बेरोजगार युवाओं को जो मधुमक्खी पालन करके आसानी से अच्छा खास मुनाफ़ा कमा सकते हैं उनके लिए इस योजना को स्वीकृति दी गई है इसकी आवेदन प्रक्रिया को जल्द ही शुरू किया जाएगा जिसमें मधुमक्खी पलकों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर ही लाभ पहुंचाया जाएगा। 

Author

Leave a Comment