MP News: लाभ ले रही लाड़ली बहना यदि अपात्र निकली तो होगी बड़ी कार्यवाई

लाड़ली बहना योजना जिसकी शुरुवात पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मार्च 2023 में किया था। इस योजना के अंतर्गत लगभग 1.31 करोड़ महिलाओं को योजना का लाभ दिया जा रहा है। जिसमें पहले महिलाओं को हर महीने 1000 रुपये और उसके बाद इसे बढ़ाकर 1250 रुपये कर दिया गया जिसमें महिलाओं को सालाना 15000 रुपये का लाभ मिल रहा है। इस योजना में महिलाओं से नियम शर्तों के अनुसार स्वेच्छा से स्वप्रमाणित आवेदन भरवाए गए हैं। 

अपात्र महिलाओं पर होगी कार्यवाई 

चुनाव के चलते मध्यप्रदेश सरकार ने करोड़ों महिलाओं को इस योजना के लिए पात्र किया और उनको लाभ प्रदान किया जा रहा है परन्तु बहुत सी महिलाएं ऐसी भी है जो अपात्र होते हुए भी उनको इस योजना का लाभ मिल रहा है ऐसे में सरकार ने लाभ परित्याग का विकल्प भी महिलाओं के सामने रखा है परन्तु उसके बाद भी यदि महिलाएं अपात्र होकर इस योजना का लाभ लेती रही तो उन पर सरकार सख्त कार्यवाई कर सकता है। आपको बता दें कि कई आंगनवाड़ी सहायिका, कार्यकर्ता, समस्त अध्यक्ष/ सचिव स्व सहायता समूह के सदस्य भी योजना का लाभ ले रहे हैं।

इन्हें है योजना की पात्रता

लाड़ली बहना योजना की पात्रता के लिए शर्तें हैं कि इनकम टैक्स के दायरे में ना आते हों, संयुक्त परिवार में पांच एकड़ से ज्यादा जमीन ना हो, परिवार में कोई भी एक व्यक्ति सरकारी नौकरी में नहीं हो, चार पहिया वाहन ट्रैक्टर को छोड़कर ना हो, पूर्व सांसद-विधायक, पंचायत सदस्यों की पत्नी ना हो।

इसे भी पढ़ें –  नया CSC सेंटर कैसे खोलें, अपने गांव में रहकर ही खोलें CSC सेंटर और कमाएं 30 से 40 हजार महीना

हालांकि, राज्य शासन की तरफ से लाडली बहना योजना का अपात्र लोगों के लाभ लेने पर कोई कार्रवाई करने संबंधी कोई निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। एक अधिकारी ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि लाभ ले रहे लोगों को परित्याग करने का विकल्प दिया गया है। वह स्वेच्छा से योजना का परित्याग कर सकते हैं।

Author

Leave a Comment