जानिये कौन हैं मोहन यादव और मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री उन्हें क्यों बनाया गया

मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद हफ़्ते भर से जारी मुख्यमंत्री पद की दौड़ का आज समापन हो गया है और मुख्यमंत्री पद के लिए उज्जैन विधानसभा सीट से विधायक मोहन यादव का नाम फाइनल हो गया है। मोहन यादव के नाम की ये घोषणा काफी चौकादेने वाली रही क्योंकि इनके नाम की चर्चा मुख्यमंत्री की दौड़ में आने वाले दिग्गज नेताओं की किसी भी सूची में देखने को नहीं मिला था 

भारतीय जनता पार्टी की विधायक दल की बैठक में सर्व सहमति के साथ मोहन यादव को मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री बनाने के फैसले पर मुहर लगाते हुए आज बैठक का समापन किया गया। मोहन यादव की संघ और संगठन में अच्छी पकड़ है। मोहन यादव भाजपा के एक ओबीसी नेता हैं जो 3 बार के विधायक भी रह चुके हैं साथ ही शिवराज के मंत्रिमंडल के मंत्री रहकर साल 2020 में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ भी ली थी। 

मोहन यादव उज्जैन विधानसभा सीट से विधायक हैं उन्होंने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत अपने कॉलेज के छात्र संघ सचिव के रूप में की थी जिसके कुछ समय बाद वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े मोहन यादव साल 2013 में पहली बार विधायक बने जिसके 5 साल बाद में दूसरी बार साल 2018 में उज्जैन विधानसभा सीट से विधायक बने। 

MP के नये सीएम मोहन यादव 

लगभग 1 हफ्ते के लंबे इंतजार के बाद मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का नाम सामने आ गया है। MP के नए सीएम के रूप में मोहन यादव को नियुक्त किया गया है। मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से है साथ ही वाह शिवराज सिंह चौहान की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। मोहन यादव को आरएसएस में भी काफी पसंद किया जाता है। 

CM बनने पर क्या कहा मोहन यादव ने 

मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री चुने जाने पर मोहन यादव ने कैबिनेट मीटिंग को सम्बोधित करते हुए कहा “मुझ जैसे छोटे कार्यकर्ता को जो बड़ी ज़िम्मेदारी दी गई है मैं निश्चित रूप से उसपर मैं खरा उतरने की कोशिश करूंगा और ज़िम्मेदारियों को निभाऊंगा” वही मध्य प्रदेश की जनता के प्रति संपूर्ण निष्ठा से अपना कर्तव्य पूरा करने और प्रदेश को विकास की ऊंचाइयों तक पहुंचने के प्रति अपना विश्वास जताता है। 

मोहन यादव के सीएम बनने पर शिवराज की प्रतिक्रिया क्या रही? 

मध्य प्रदेश में अब डॉ. मोहन यादव को मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल का समापन हो गया है। सूत्रों के मुताबिक, शिवराज सिंह चौहान ने विधायक दल की बैठक में मोहन यादव के नाम का प्रस्ताव सभी मंत्रियों के सामने रखा था। 

इसे भी पढ़ें –  मध्यप्रदेश के नए सीएम मोहन यादव शुरू करेंगे लखपति बहना योजना, DBT खाते में आएंगे सालाना 1 लाख रुपये

मोहन यादव को एमपी का नया सीएम चुने जाने के बाद सीएम शिवराज ने अपने सीएम के पद से इस्तिफा दिया और मोहन यादव को एमपी का नया मुख्यमंत्री चुने जाने पर हार्दिक बधाई दी और कहा “मुझे विश्‍वास है कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के कुशल मार्गदर्शन में आप मध्य प्रदेश को प्रगति एवं विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जायेंगे तथा जनकल्याण के क्षेत्र में नये कीर्तिमान रचेंगे। इस नई जिम्मेदारी के लिए बहुत-बहुत बधाई, शुभकामनाएं”। 

Author

Leave a Comment