शिवराज सिंह चौहान को सौंपा जा सकता है बड़ा पद कहा – “जो भी काम दिया जाएगा, मैं वह करूंगा” 

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी की नई सरकार मोहन यादव के मुख्यमंत्री के पद पर बैठने पर शिवराज सिंह चौहान को अपने सीएम की कुर्सी से इस्तिफा देना पड़ गया था जिसके बाद मीडिया द्वारा उनके अगले पद को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर जवाब देते हुए कहा था की “अपने लिए कुछ माँगने से बेहतर मैं मरना पसंद करूँगा”, शिवराज सिंह चौहान का ये बयान काफी सुर्खियों में रहा था बावजूद इसके शिवराज का एक और बड़ा बयान आया था कि पार्टी उन्हें जो भी काम देगी वह पूरे कर्तव्य के साथ करेंगे पर मध्य प्रदेश छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे”। 

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के नए पद को लेकर कोई अपडेट भारतीय जनता पार्टी की तरफ से नहीं मिल रही थी जिसके बाद लोगों को लगने लगा था कि शायद शिवराज को बीजेपी ने पार्टी से निरस्त कर दिया है और उनको किसी भी तरह की कोई बाग डोर नहीं दी। शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली में जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद यह बात साफ कर दी कि राज्य के साथ-साथ केंद्र में भी उनकी भूमिका रहेगी और साथ ही उन्होंने यह भी संकेत दिया कि उन्हें दक्षिण भारत की कमान संभालनी पड़ सकती है। 

पूर्व CM शिवराज की जेपी नड्डा से मुलाकात 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार मंगलवार को दिल्ली में मुलाकात की। हालांकी उन्होंने जेपी नड्डा के सामने अपने दिए हुए बयान पर सफाई देते हुए कहा कि “जो भी अध्यक्ष जी बोलेंगे वैसा ही होगा, जो भी मुझे काम दिया जाएगा मैं वह काम करूंगा” इसके साथ ही सीएम की इस मीटिंग के दौरान कई विषयों पर लंबी चर्चा चली। पूर्व सीएम शिवराज ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि “हम राज्य में भी और केंद्र में भी रहेंगे”। 

शिवराज को सौंपा जा सकता है बड़ा पद 

 बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से हुई इस मुलाकात के बाद कई तरह के अनुमान लगाए जा रहे हैं कि आखिर शिवराज सिंह चौहान को कौन से पद पर बिठाया जा सकता है। जैसा कि आप जानते हैं, शिवराज सिंह चौहान MP के 4 बार मुख्यमंत्री और विदिशा से लोकसभा चुनाव 5 बार जितने वाले ओबीसी नेता हैं तो यह संभव है कि उन्हें संगठन में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद सौंपा जाए। 

शिवराज ने दक्षिण भारत का ऑफर किया स्वीकार 

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से हुई शिवराज सिंह चौहान की मुलाकात के बाद मीडिया द्वारा उनसे ये सवाल किया गया की पार्टी उन्हें कौन सी भूमिका देने वाली है?  जिसके जवाब में उन्होंने अपने बयान को दोहराते हुए कहा कि “एक कार्यकर्ता के नाते जो भूमिका पार्टी तय करेगी वह उसे निभाएंगे” इसके साथ ही उन्हें इशारों इशारों में ये संकेत दीया की वह दक्षिण भारत की ओर रूख करेंगे उन्होंने कहा भारतीय जनता पार्टी की संकल्प यात्रा के दौरान पार्टी के निर्देश पर उन्हें दक्षिण भारत में कई राजयो में जाना होगा। 

इसे भी पढ़ें – बड़ी खुशखबरी आयुष्मान कार्ड का लाभ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता और संविदा कर्मियों को भी मिलेगा

“मैं फिर वापस आऊंगा” 

मध्य प्रदेश में आज विधानसभा चुनाव के बाद गठबंधन की पहली बैठक है शिवराज सिंह चौहान ने कहा मध्य प्रदेश विधायक दल की इस बैठक में उनका होना जरूरी है इसलिए दिल्ली से जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद मध्य प्रदेश में होने वाली विधायक दल की बैठक के लिए रवाना हुए, रवानगी लेने से पहले उन्होंने मीडिया के माध्यम से कहा कि “मैं फिर वापस आऊंगा”। 

Author

Leave a Comment