MP News: लाडली बहनों के लिए एक और खास खबर, मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के द्वारा दिया जा रहा है प्रशिक्षण

मध्यप्रदेश में अब महिलाओं के लिए एक और अनूठी पहल शुरू की गई है जिसके द्वारा महिलाओं को स्पेशल ट्रेनिंग मिल रही है। इस बात को लेकर मध्य प्रदेश में महिलाएं काफी उत्साहित है। वर्तमान में केवल 20 महिलाओं को ट्रेनिंग दी जा रही है। मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में महिलाओं के लिए सुरक्षित पर्यटन स्थल परियोजना के अंतर्गत, महेश्वर के संकुल धार पर्यटन स्थल में ट्रेनिंग मिल रही है। इसका संचालन जिला प्रशासन, मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड और वसुधा विकास संस्थान द्वारा किया जा रहा है।

महिलाओं को नाविक बनाने का प्रशिक्षण

देवी अहिल्याबाई के किले के अंदर नर्मदा घाट पर महिलाओं को नाविक बनने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन 06 दिसंबर को किया गया। यह महिलाओं के लिए एक अनूठी पहल है। इस प्रशिक्षण में 20 महिलाओं ने भाग लिया। प्रशिक्षण के बाद ये महिलाएं नौका सहायक और स्टोरी टेलर के रूप में काम करेंगी। प्रशिक्षित महिलाएं महेश्वर में आने वाले पर्यटकों को नौका की सैर कराएंगी। साथ ही मां नर्मदा और मां अहिल्या के साथ-साथ घाट निर्माण की कथा से लेकर महेश्वरी साड़ी की रोचक जानकारी देंगी। इस प्रकार महिला नाविक का काम करने के साथ एक गाइड का काम भी करेंगे।

टूरिज्म बोर्ड के द्वारा दिया जा रहा है प्रशिक्षण

मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा यह अनोखी पहल की जा रही है। महेश्वर में यह महिलाओं के लिए नाविक प्रशिक्षण एक बड़ी उपलब्धि होगी। जिससे उन्हें रोजगार का अवसर मिलेगा। साथ ही साथ, महिला पर्यटक अहिल्याबाई की नगरी महेश्वर में घूमने आएगी वे महिला नाविक के साथ नर्मदा घाट का बिना डरे और सुरक्षित महसूस करते हुए दर्शन कर पाएगी।

यह भी पढ़ें – Indian Post Office Recruitment: डाक विभाग में निकली बंपर भर्ती, 10वीं पास युवाओं के लिए सुनहरा मौका

नाविक प्रशिक्षण के साथ स्टोरी टेलर की ट्रेनिंग

महिलाओं को नाविक प्रशिक्षण के साथ-साथ स्टोरी टेलर की ट्रेनिंग भी बहुत महत्वपूर्ण है। इससे वे पर्यटकों को नर्मदा घाट के दर्शन और महेश्वर का इतिहास बता सकेंगी। आपातकालीन स्थिति में नौका संचालक का काम भी कर सकती हैं। यह महिलाएं एक प्रकार से नाविक की भूमिका निभाएंगे। महिलाओं के लिए यह एक अच्छा अवसर है, जहां वे महेश्वर में नाविक बनने का प्रशिक्षण ले सकती हैं। इससे भविष्य में महिला पर्यटक नर्मदा घाट के दर्शन करने के लिए नाव का उपयोग कर सकेंगी। परियोजना के अंतर्गत महिलाओं को नाविक की तकनीकों के बारे में जानकारी देने के साथ ही उनको व्यावहारिक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

Author

  • Princi

    My name is Princi, I love writing on news, trending topics, and schemes. Thanks for reading the article written by me

Leave a Comment